Follow us

आज भी ईडी के सामने पेश नहीं हुए केजरीवाल, कहा- ‘एजेंसी को कोर्ट के फैसले…’

केजरीवाल

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज 19 फरवरी को भी ईडी के सामने पेश हुए। उन्होंने कहा कि ईडी द्वारा भेजे जा रहे सभी समन गैर कानूनी हैं और अब जब मामला कोर्ट में है तब ईडी को कोर्ट के फैसले का इंतजार करना चाहिए। बता दें कि ये ईडी का छठा समन है। ईडी उन्हें दिल्ली के कथित शराब घोटाले मामले पूछताछ के लिए बुला रही है।

बता दें कि उत्पाद शुल्क नीति मामले में ईडी अब तक केजरीवाल को 6 समन भेज चुकी है, लेकिन वे एक भी समन पर एजेंसी के सामने पेश नहीं हुए। ईडी ने दिल्ली सीएम को पहला समन 2 नवंबर को भेजा था। इसके बाद 21 दिसंबर को दूसरा समन, तीन जनवरी को तीसरा समन, 17 जनवरी को चौथा समन, दो फरवरी को 5वां समन और 14 फरवरी को छठा समन भेजा था। छठे समन में उन्हें 19 फरवरी यानी आज एजेंसी के कार्यालय में बुलाया गया था लेकिन वे आज भी पेश नहीं हुए।

गौरतलब है कि इससे पहले दिल्ली की राउज रेवन्यू कोर्ट ने केजरीवाल के खिलाफ ईडी की तरफ से दर्ज कराई गई शिकायत पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने उन्हें व्यक्तिगत पेशी से छूट दी थी। कोर्ट में दी गई शिकायत में ईडी ने कहा था कि आबकारी नीति से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में केजरीवाल उन्हें भेजे गए समन को नजरअंदाज कर रहे हैं और पूछताछ में एजेंसी का सहयोग नहीं कर रहे हैं। ईडी की शिकायत के बाद केजरीवाल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोर्ट में पेश हुए और अपना पक्ष रखते हुए कहा था कि अभी दिल्ली विधानसभा का सत्र जारी है और यह मार्च 2024 के पहले सप्ताह तक चलेगा, ऐसे में वह अदालत के समक्ष व्यक्तिगत रूप से पेश होने में असमर्थ हैं।

इसे भी पढ़ें- Excise Policy Case: अरविंद केजरीवाल को ED ने भेजा पांचवां समन

इसे भी पढ़ें- आज भी ईडी के समक्ष पेश नहीं होंगे अरविंद केजरीवाल

nyaay24news
Author: nyaay24news

disclaimer

– न्याय 24 न्यूज़ तक अपनी बात, खबर, सूचनाएं, किसी खबर पर अपना पक्ष, लीगल नोटिस इस मेल के जरिए पहुंचाएं। nyaaynews24@gmail.com

– न्याय 24 न्यूज़ पिछले 2 साल से भरोसे का नाम है। अगर खबर भेजने वाले अपने नाम पहचान को गोपनीय रखने का अनुरोध करते हैं तो उनकी निजता की रक्षा हर हाल में की जाती है और उनके भरोसे को कायम रखा जाता है।

– न्याय 24 न्यूज़ की तरफ से किसी जिले में किसी भी व्यक्ति को नियुक्त नहीं किया गया है। कुछ एक जगहों पर अपवाद को छोड़कर, इसलिए अगर कोई खुद को न्याय 24 से जुड़ा हुआ बताता है तो उसके दावे को संदिग्ध मानें और पुष्टि के लिए न्याय 24 को मेल भेजकर पूछ लें।

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Top Headlines

Live Cricket