Follow us

नए भारत की रीढ़ बनेंगे स्टार्टअप: पीयूष गोयल

Startup Mahakumbh

नई दिल्ली। स्टार्टअप महाकुंभ भारत की विकास गाथा को प्रतिबिंबित कर है। ये स्टार्टअप नए भारत की रीढ़ बनेंगे। आने वाले समय एक मजबूत अर्थव्यवस्था के साथ उभरेगा। ये बातें भारत केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कही।

केंद्रीय मंत्री यहां नई दिल्ली में उद्योग संवर्धन एवं आंतरिक व्यापार विभाग के ‘स्टार्टअप महाकुंभ’ के उद्घाटन समारोह में बोल रहे थे। इस दौरान उन्होंने भारत स्टार्टअप इकोसिस्टम रजिस्ट्री और स्टार्टअप महाकुंभ की वेबसाइट और लोगो भी लॉन्च किया। उन्होंने देशभर के 57 विविध स्टार्टअप पदचिह्नों को एक मंच पर लाने के मकसद से आयोजित इस समारोह की जमकर तारीफ़ की।

वाणिज्य मंत्री ने कहा कि स्टार्टअप सेक्टर नए भारत की रीढ़ है। इससे देश को आर्थिक तौर पर मजबूती मिलेगी। उन्होंने स्टार्टअप महाकुंभ में उद्यमिता और नवप्रवर्तन के इच्छुक युवाओं की भागीदारी को प्रोत्साहित किया और कहा यह एक वार्षिक कार्यक्रम की शुरुआत का प्रतीक है। समारोह में गोयल ने उद्यमियों से अपील की कि वे ‘चूकें नहीं’ और अधिक से अधिक अवसरों का लाभ उठाएं, क्योंकि भारत आने वाले साल 2047 तक 35 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहा है।

वाणिज्य मंत्री ने भरोसा जताया कि युवा भारतीय ‘अमृत काल’ में देश की नियति को आकार देंगे। उन्होंने युवाओं से आह्वान किया कि वे भारत की कहानी को दुनिया के सामने तक ले जाएं।

इसे भी पढ़ें- सकारात्मक रुख के साथ WTO की बैठक शामिल होंगे सभी देश: पीयूष गोयल

इसे भी पढ़ें- बॉर्डर पर तनाव: किसानों को रोकने के लिए पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले

nyaay24news
Author: nyaay24news

disclaimer

– न्याय 24 न्यूज़ तक अपनी बात, खबर, सूचनाएं, किसी खबर पर अपना पक्ष, लीगल नोटिस इस मेल के जरिए पहुंचाएं। nyaaynews24@gmail.com

– न्याय 24 न्यूज़ पिछले 2 साल से भरोसे का नाम है। अगर खबर भेजने वाले अपने नाम पहचान को गोपनीय रखने का अनुरोध करते हैं तो उनकी निजता की रक्षा हर हाल में की जाती है और उनके भरोसे को कायम रखा जाता है।

– न्याय 24 न्यूज़ की तरफ से किसी जिले में किसी भी व्यक्ति को नियुक्त नहीं किया गया है। कुछ एक जगहों पर अपवाद को छोड़कर, इसलिए अगर कोई खुद को न्याय 24 से जुड़ा हुआ बताता है तो उसके दावे को संदिग्ध मानें और पुष्टि के लिए न्याय 24 को मेल भेजकर पूछ लें।

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Top Headlines

Live Cricket