Follow us

समुद्री सीमा पर पकड़ी गई ड्रग्स की अब तक की सबसे बड़ी खेप, पांच गिरफ्तार

Narcotics Control Bureau

नई दिल्ली। मंगलवार को गुजरात के आतंकवादी रोधी दस्ते ने भारतीय नौसेना और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के साथ मिल कर अंतर्राष्ट्रीय समुद्री सीमा रेखा (IMBL) के अरब सागर में संयुक्त अभियान चला कर भारी मात्रा में ड्रग्स की जब्ती की। जांच दल ने एक ईरानी नौका को रोका और चालक दल के पांच सदस्यों को हिरासत में लिया। इनके पास से 3300 किलो ग्राम से अधिक का ड्रग्स बरामद हुआ है, जिसकी कीमत हजारों करोड़ रुपए में आंकी जा रही है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक से बारे में बात करते हुए संघीय मादक पदार्थ रोधी एजेंसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि एनसीबी और अन्य एजेंसियों ने मिलकर मादक पदार्थों की तस्करी के एक और अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क का पर्दाफाश किया है। देश में अब तक की सबसे अधिक अपतटीय जब्ती (मात्रा के आधार पर) की है। अधिकारी का कहना है कि ईरानी नौका से गिरफ्तार किए गए पांच लोग पाकिस्तानी या ईरानी हो सकते हैं। हालांकि उनके पास से राष्ट्रीयता से जुड़ा कोई दस्तावेज बरामद नहीं हुआ है। अधिकारी ने बताया कि जांच एजेंसियों द्वारा पकड़ी गई ईरानी नौका में लगभग 3300 किलोग्राम प्रतिबंधित मादक पदार्थ (3089 किलोग्राम चरस, 158 किलोग्राम मेथामफेटामाइन 25 किलोग्राम मॉर्फिन) था।

एजंसियों द्वारा की गई इस जब्ती की कार्रवाई पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पूरी टीम को बधाई दी है। उन्होंने कहा, ‘प्रधानंत्री नरेंद्र मोदी के नशामुक्त भारत के सपने ध्यान में रखते हुए हमारी एजेंसियों ने आज देश में मादक पदार्थ की सबसे बड़ी जब्ती करने में सफलता हासिल की। एनसीबी, नौसेना और गुजरात पुलिस द्वारा किए गए एक संयुक्त अभियान में, 3132 किलोग्राम ड्रग्स की एक बड़ी खेप पकड़ी गई है। यह ऐतिहासिक सफलता हमारे देश को नशा मुक्त बनाने की हमारी सरकार की अटूट प्रतिबद्धता का प्रमाण है। मैं एनसीबी, नौसेना और गुजरात पुलिस को बधाई देता हूं।’

इसे भी पढ़ें- 4.5 करोड़ रुपये के ड्रग्स के साथ विदेशी महिला गिरफ्तार

इसे भी पढ़ें- फिर मुश्किल में फंसे NCB के पूर्व जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े, ED ने दर्ज किया केस

nyaay24news
Author: nyaay24news

disclaimer

– न्याय 24 न्यूज़ तक अपनी बात, खबर, सूचनाएं, किसी खबर पर अपना पक्ष, लीगल नोटिस इस मेल के जरिए पहुंचाएं। nyaaynews24@gmail.com

– न्याय 24 न्यूज़ पिछले 2 साल से भरोसे का नाम है। अगर खबर भेजने वाले अपने नाम पहचान को गोपनीय रखने का अनुरोध करते हैं तो उनकी निजता की रक्षा हर हाल में की जाती है और उनके भरोसे को कायम रखा जाता है।

– न्याय 24 न्यूज़ की तरफ से किसी जिले में किसी भी व्यक्ति को नियुक्त नहीं किया गया है। कुछ एक जगहों पर अपवाद को छोड़कर, इसलिए अगर कोई खुद को न्याय 24 से जुड़ा हुआ बताता है तो उसके दावे को संदिग्ध मानें और पुष्टि के लिए न्याय 24 को मेल भेजकर पूछ लें।

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Top Headlines

Live Cricket