Follow us

अमित शाह ने फिर भरी हुंकार, नागरिकता कानून पर विपक्ष के हमलों पर दिया जवाब, मुस्लिम विरोधी नहीं

नई दिल्ली_ साल 2019 का वो दिन जब भारत के संसद में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का तेवर और अंदाज आज एक फिर लोगों को याद आ गया है वजह है बीते सोमवार यानी 11 मार्च की जब देर शाम भारत सरकार ने एक आदेश पत्र जारी कर दिया जिस पत्र में कहा गया की आज से पूरे देश में नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) लागू किया जाता है. देखते ही देखते यह खबर पूरे देश में फ़ैल गयी अब लोग अपने-अपने स्तर पर इस पर बात करने लगे सोशल मीडिया प्लेटफ्रॉम X पर भारत में सीएए लागू ट्रेंड होने लगा जिसके बाद विपक्ष भी सत्ता पक्ष पर सीएए को लेकर भड़ास निकालने लगा. विपक्ष का कहना था की लोकसभा चुनाव से कुछ दिन पूर्व ही मोदी सरकार को यह सब याद आ रहा. बता दे इस फैसले के विरोध में इंडिया गठबंधन लगातार सरकार पर हमलावार हो गया और यह आरोप लगाने लगा की देश में आगामी लोकसभा चुनाव 2024 से ठीक पहले ही बीजेपी सरकार को सीएए की याद आयी हालांकि भारत की जनता ने इस आदेश को स्वीकार किया और केंद्र की मोदी सरकार को धन्यवाद दिया और पूरा देश जश्न मानने लगा दूसरी तरफ कई लोगों ने भम्र भी जमकर फैलाया जिसको लेकर देश के गृहमंत्री अमित शाह ने एक बार फिर हुंकार भारी और विरोधियों का मुँह बंद किया..

“झूठ की राजनीति” का सहारा लेने का लगाया आरोप

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) मुसलमानों के खिलाफ बिलकुल भी नहीं है, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने विपक्षी दलों पर “झूठ की राजनीति” का सहारा लेने का आरोप लगाया है। अमित शाह ने कहा की, “मैंने विभिन्न प्लेटफार्मों पर कम से कम 41 बार सीएए पर बात की है और विस्तार से कहा है कि देश के अल्पसंख्यकों को डरने की जरूरत नहीं है क्योंकि इसमें किसी भी नागरिक के अधिकारों को वापस लेने का कोई प्रावधान नहीं है। शाह ने आगे कहा कि सीएए का उद्देश्य बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी और ईसाइयों सहित उन सताए गए गैर-मुस्लिम प्रवासियों को नागरिकता देना है, जो 31 दिसंबर 2014 से पहले भारत आए थे। साथ ही उन्होंने आगे ये भी कहा की मुसलमानों को संविधान के नियमों के अनुसार भारत में नागरिकता के लिए आवेदन करने का अधिकार है, लेकिन यह कानून इन देशों के प्रताड़ित अल्पसंख्यकों के लिए है।

अमित शाह
अमित शाह

सीएए कानून किसी की नागरिकता नहीं छीनेगा’- राजनाथ सिंह

आगामी लोकसभा चुनाव 2024 से ठीक पहले लागू क‍िए गए नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) को लेकर केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का गुरुवार (14 मार्च) को बड़ा बयान आया है. रक्षा मंत्री स‍िंह ने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लेकर लोगों को गुमराह किया जा रहा है. यह कानून भारत में रह रहे किसी भी व्यक्ति की नागरिकता नहीं छीनेगा. केंद्रीय मंत्री सिंह ने असम के बारपेटा में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि सीएए धार्मिक रूप से उत्पीड़न का शिकार उन लोगों को नागरिकता प्रदान करेगा जो पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से 2014 तक भारत आ गये.

nyaay24news
Author: nyaay24news

disclaimer

– न्याय 24 न्यूज़ तक अपनी बात, खबर, सूचनाएं, किसी खबर पर अपना पक्ष, लीगल नोटिस इस मेल के जरिए पहुंचाएं। nyaaynews24@gmail.com

– न्याय 24 न्यूज़ पिछले 2 साल से भरोसे का नाम है। अगर खबर भेजने वाले अपने नाम पहचान को गोपनीय रखने का अनुरोध करते हैं तो उनकी निजता की रक्षा हर हाल में की जाती है और उनके भरोसे को कायम रखा जाता है।

– न्याय 24 न्यूज़ की तरफ से किसी जिले में किसी भी व्यक्ति को नियुक्त नहीं किया गया है। कुछ एक जगहों पर अपवाद को छोड़कर, इसलिए अगर कोई खुद को न्याय 24 से जुड़ा हुआ बताता है तो उसके दावे को संदिग्ध मानें और पुष्टि के लिए न्याय 24 को मेल भेजकर पूछ लें।

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Top Headlines

Live Cricket