Follow us

बाराबंकी: सूदखोर से परेशान BJP नेता ने गोली मार कर की खुदकुशी 

बाराबंकी

बाराबंकी। सूदखोर के चंगुल में फंसे बीजेपी नेता हर्षित टंडन (46) ने गुरुवार की सुबह खुद को घर के बाथरूम में गोली मार ली। मूल रूप से बारबंकी के रहने वाले हर्ष लखनऊ के बीबीडी ग्रीन लोटस एनक्लेव में रहते थे। वे इंटीरियर कारोबारी व भाजपा नेता भी थे।  हर्षित की डेडबॉडी के पास से मिले सुसाइड नोट में उन्होंने खुद की मौत का जिम्मेदार बाराबंकी के ही एक सूदखोर सुजीत शाह को ठहराया है। उन्होंने सुसाइड नोट मे लिखा है कि  सुजीत की प्रताड़ना से तंग अकार वे खुद को खत्म कर रहे हैं।

बाराबंकी

बीजेपी नेता और व्यापारी ने बीबीडी ग्रीन सिटी स्थित अपने आवास के बाथरूम में खुद को गोली मारी। परिजनों का कहना है कि गोली की आवाज सुनकर वे बाथरूम की तरफ भागे और दरवाजा तोड़ा तो देखा कि बीजेपी नेता खून से लथपथ पड़े थे। आनन फानन में उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सूचना के बाद मौके पर पहुंची बीबीडी थाने की पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है और मृतक के परिजनों  की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर आरोपी सूदखोर सुजीत शाह को अरेस्ट कर लिया।

बाराबंकी

मृतक हर्षित के पास से मिले सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा है कि सूदखोर उनसे सूद पर दिए 15 लाख रुपये के बदले हर महीने नौ लाख रुपये ब्याज वसूल रहा था, जिससे वे काफी परेशान थे। घटना से इलाके में हड़कंप मच गया है। वहीं  पुलिस ने मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है। कारोबारी के पिता ने सूदखोर के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कराया है।

बाराबंकी

बता दें कि बाराबंकी में बीजेपी कार्यकारिणी सदस्य और व्यापारी संगठन के पदाधिकारी हर्षित टंडन अपने पिता के साथ लखनऊ के थाना बीबीडी अंतर्गत स्थित बीबीडी ग्रीन सिटी के लोटस अपार्टमेंट (विला नम्बर 72) में अपने परिवार के साथ रहते हैं। पिता मदन मोहन टंडन के मुताबिक गुरुवार की रात करीब 9 बजे उनके मोबाइल पर किसी का फोन आया था। कॉल करने वाले से वो परंपरा कमता चौराहे पर मिलने की बात कह रहे थे। इसके कुछ देर बाद करीब 9:45 बजे हर्षित ने विला की पहली मंजिल पर बने बाथरूम का दरवाजा बंद कर अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर से खुद को गोली मार ली। वारदात के बाद परिवार में कोहराम मच गया। वहीं बाराबंकी बीजेपी जिलाध्यक्ष अरविंद मौर्य और व्यापार संगठन से जुड़े प्रदीप जैन, रविन्न खजांची, सरदार कनवर सिंह, अंकित वैश्य, अंकुर जैन समेत अन्य कई लोग भी मौके पर पहुंचे।

बाराबंकी

मूल रूप से बाराबंकी के लाजपतनगर इलाके के रहने वाले हर्षित उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल के जिला महामंत्री, इंटीरियर कारोबारी व भाजपा नेता हैं।  वे छह महीने से बीबीडी ग्रीन लोटस एनक्लेव के विला नंबर-72 में परिवार के साथ रह रहे थे। मामले की जानकारी देते हुए हर्षित के जीजा बॉबी ने बताया कि गुरुवार की रात 9.45 बजे हर्षित ने घर की पहली मंजिल पर बने बाथरूम में लाइसेंसी रिवॉल्वर माथे पर सटाकर खुद को गोली मार ली। गोली की आवाज सुनकर पिता मदन मोहन टंडन, पत्नी रेशू और बेटी शानवी दौड़कर पहुंचे तो हर्षित का शव पड़ा था। पास में लाइसेंसी रिवॉल्वर भी थी। हर्षित का बेटा ऋषित चेन्नई से इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा है।

हर्षित के पिता मदन मोहन टंडन ने बताया कि बेटा हर्षित टंडन बीजेपी में सक्रिय कार्यकर्ता के साथ बाराबंकी में व्यापार करते थे। व्यापार को आगे बढ़ाने के लिए हर्षित ने सुजीत शाह नाम के एक सूदखोर से ब्याज पर पैसे लिए थे, जो हर महीने पैसे की डिमांड करता था। परिजनों का कहना है  कि ली गई रकम से दस गुना ज्यादा अदा करने के बाद भी सूदखोर उनका पीछा नहीं  छोड़ रहा था और उसे बाराबंकी में पोस्ट ऑफिस के सामने बने उनके करोड़ों के मकान को भी हथिया लिया। इसके बाद भी सुजीत शाह आए दिन और पैसा देने के लिए दबाव बना रहा था।

व्यापारी नेता पहुंचे

उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनवारी लाल कंछल सहित अन्य नेता पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे और हर्षित के परिवार को ढांढस बधाया। पोस्टमार्टम हाउस पर हर्षित के परिजन । परिवार को मदद का भरोसा दिलाया।

इसे भी पढ़ें-इंटर कालेज के प्रधानाचार्य की गोली मार कर हत्या, FIR दर्ज

इसे भी पढ़ें- अमेरिका में भारतीय छात्र की गोली मार कर हत्या

nyaay24news
Author: nyaay24news

disclaimer

– न्याय 24 न्यूज़ तक अपनी बात, खबर, सूचनाएं, किसी खबर पर अपना पक्ष, लीगल नोटिस इस मेल के जरिए पहुंचाएं। nyaaynews24@gmail.com

– न्याय 24 न्यूज़ पिछले 2 साल से भरोसे का नाम है। अगर खबर भेजने वाले अपने नाम पहचान को गोपनीय रखने का अनुरोध करते हैं तो उनकी निजता की रक्षा हर हाल में की जाती है और उनके भरोसे को कायम रखा जाता है।

– न्याय 24 न्यूज़ की तरफ से किसी जिले में किसी भी व्यक्ति को नियुक्त नहीं किया गया है। कुछ एक जगहों पर अपवाद को छोड़कर, इसलिए अगर कोई खुद को न्याय 24 से जुड़ा हुआ बताता है तो उसके दावे को संदिग्ध मानें और पुष्टि के लिए न्याय 24 को मेल भेजकर पूछ लें।

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Top Headlines

Live Cricket