Follow us

यूपी के इस पुलिस कप्तान ने बनाया नया और अद्भुत रिकॉर्ड!

पुलिस कप्तान
  • वे मारते नहीं हैं, वे बस पैर में गोली मारकर क्षत-विक्षत कर देते हैं ताकि उन्हें एहसास हो कि वे नर्क की दुनिया से आए हैं। दूसरे शब्दों में, इसे ‘हाफ एनकाउंटर’ कहा जाता है।

जौनपुर। यूपी के जौनपुर जिले के पुलिस कप्तान अजयपाल शर्मा ने हाफ एनकाउंटर का नया रिकार्ड बनाया है। अब तक जौनपुर पुलिस ने कुल 57 अपराधियों को ‘हाफ एनकाउंटर’ की श्रेणी में रखा है। जब से IPS अजय पाल शर्मा को जिले का पुलिस कप्तान नियुक्त किया गया है तब से यह हाफ एनकाउंटर की रेल अपराधियों को आतंकित कर रही है। दबंग पुलिस अधिकारी अजयपाल शर्मा को एनकाउंटर मैन के रूप में भी जाना जाता है। हर जगह अपराधियों को जेल या ऊपर भेज दिया गया।

सूत्रों के अनुसार पुलिस अधीक्षक अजयपाल शर्मा ने जौनपुर में लगभग 57 अपराधियों का हाफ एनकाउंटर किया। इसका मतलब है कि एक अपराधी मारा गया और 56 लोगों को पैर में गोली लगी और वे अपंग या घायल हो गए।

देखिये हाफ एनकाउंटर और एनकाउंटर में शिकार हुए अपराधियों की सूची
पुलिस कप्तान
पुलिस कप्तान
पुलिस कप्तान
पुलिस कप्तान
पुलिस कप्तान
पुलिस कप्तान

कौन हैं अजय पाल शर्मा

जानकारी के मुताबिक, पंजाब के लुधियाना में रहने वाले अजय पाल शर्मा यूपी कैडर के 2011 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। आईपीएस अजय पाल शर्मा की पहली पोस्टिंग यूपी के सहारनपुर में हुई थी। अजय पाल से अपराधी खौफ खाते हैं। उन्होने एक के बाद एक एनकाउंटर किए और एनकाउंटर स्पेशलिस्ट बन गए।

सीएम योगी कर चुके हैं सम्मानित

अजय पाल शर्मा (Ajay Pal Sharma) को उनकी कार्यशैली के लिए भी जाना जाता है. जहां भी उनकी तैनाती रहती है वहां पर कानून का राज रहता है. रिपोर्ट्स के मुताबिक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी कई मौकों पर उनकी तारीफ़ कर चूके हैं। लखीमपुर खीरी में सिक्ख बनाम ब्राहम्ण विवाद जब बड़ा रुप ले रहा था। उस समय सीएम योगी ने हालात पर काबू करने के लिए अजय पाल शर्मा को वहां भेजा। बदले में उन्होंने भी सीएम को निराश नहीं किया और जल्द ही हालात को काबू करने में कामयाब रहे। कई मौके पर सीएम ने उन्हें सम्मानित भी किया।

‘सिंघम’ जैसे नामों से होने लगी पहचान

अजय पाल शर्मा ने यूपी में एक के बाद एक कई एनकाउंटर किए, जिसके बाद उन्हें एनकाउंटर स्पेशलिस्ट कहा जाने लगा। शर्मा का नाम प्रदेश भर में तब सुर्खियों में आया था। बात वर्ष 2019 जून की है। जब रामपुर में ड्यूटी के दौरान अजय पाल शर्मा ने एक छह वर्ष की बच्ची से रेप के बाद हत्या की वारदात में आरोपी नाजिल को एनकाउंटर में गिरफ्तार किया था। एनकाउंटर में अपराधी को तीन गोलियां लगी थी। अजय पाल ने ही कैराना पलायन के आरोपी को भी गिरफ्तार किया था। जिसके बाद अजय पाल शर्मा ‘सिंघम’ जैसे नामों से जाने पहचाने लगे।

इसे भी पढ़ें-एसपी अमेठी की अगुवाई में अपराधियों के लिए प्रदेश की सबसे खतरनाक SOG टीम

इसे भी पढ़ें-प्रशांत कुमार बने UP के नए कार्यवाहक DJP, कई गैंग का कर चुके हैं सफाया

nyaay24news
Author: nyaay24news

disclaimer

– न्याय 24 न्यूज़ तक अपनी बात, खबर, सूचनाएं, किसी खबर पर अपना पक्ष, लीगल नोटिस इस मेल के जरिए पहुंचाएं। nyaaynews24@gmail.com

– न्याय 24 न्यूज़ पिछले 2 साल से भरोसे का नाम है। अगर खबर भेजने वाले अपने नाम पहचान को गोपनीय रखने का अनुरोध करते हैं तो उनकी निजता की रक्षा हर हाल में की जाती है और उनके भरोसे को कायम रखा जाता है।

– न्याय 24 न्यूज़ की तरफ से किसी जिले में किसी भी व्यक्ति को नियुक्त नहीं किया गया है। कुछ एक जगहों पर अपवाद को छोड़कर, इसलिए अगर कोई खुद को न्याय 24 से जुड़ा हुआ बताता है तो उसके दावे को संदिग्ध मानें और पुष्टि के लिए न्याय 24 को मेल भेजकर पूछ लें।

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Top Headlines

Live Cricket