Follow us

सीएम योगी ने किया कन्या पूजन, सोशल मीडिया पर वायरल हुईं तस्वीरें

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रामनवमी के अवसर पर नवरात्रि पर कन्या पूजन किया। सीएम योगी ने अपने गृहनगर गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर में कन्या पूजन किया। नियमानुसार सीएम ने कन्याओं के पैर धोए, उन्हें चुनरी उढाई फिर भोजन कराया। अब सोशल मीडिया पर उनके कन्या भोज की तस्वीरें वायरल हो रही हैं।

CM

वायरल फोटोज में मुख्यमंत्री योगी गोरखनाथ मंदिर में विधिपूर्वक कन्या पूजन करते नजर आ रहे हैं। सीएम् ने सबसे पहले लड़कियों के पैर धोए, उनके माथे पर तिलक लगाया, उनके गले में माला पहनाई और उन्हें चुनरी पहनाई।
इसके बाद उन्होंने सभी कन्याओं की आरती उतारी और फिर उन्हें अपने हाथों से खाना खिलाया।

सीएम योगी कन्याओं को अपने हाथों से खाना खिलाते नजर आए। इस मौके पर योगी आदित्यनाथ ने देशवासियों को रामनवमी की बधाई दी और कहा, ”वासंतिक नवमी का दिन मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्री राम का पावन जन्मोत्सव भी है। इस दिन को रामनवमी के नाम से जाना जाता है। कुछ वर्ष पहले सृष्टि के मापक भगवान विष्णु ने अयोध्या में महाराज दशरथ के पुत्र के रूप में अवतार लिया और इस संसार में धर्म, सत्य और न्याय की स्थापना की। सीएम योगी ने कहा, ”इस वर्ष की नवमी बहुत महत्वपूर्ण दिन है।

अयोध्या धाम में हर्ष और उल्लास का माहौल है। लगभग 500 वर्षों के बाद मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्री राम का पावन जन्मदिन कार्यक्रम हमारे लिए लेकर आये हैं। हम जोश और जुनून के साथ मेजबानी कर सकते हैं।” ”भगवान श्री राम की पवित्र जन्मभूमि, सभी उद्योगपति और भाईयों, हम रामनवमी का यह पवित्र त्योहार मनाते हैं।

इसे भी पढ़ें-भारत के सम्मान और स्वाभिमान के लिए लड़ रही है बीजेपी: सीएम योगी

इसे भी पढ़ें- ओम प्रकाश राजभर की मां के निधन पर सीएम योगी ने जताई संवेदना

nyaay24news
Author: nyaay24news

disclaimer

– न्याय 24 न्यूज़ तक अपनी बात, खबर, सूचनाएं, किसी खबर पर अपना पक्ष, लीगल नोटिस इस मेल के जरिए पहुंचाएं। nyaaynews24@gmail.com

– न्याय 24 न्यूज़ पिछले 2 साल से भरोसे का नाम है। अगर खबर भेजने वाले अपने नाम पहचान को गोपनीय रखने का अनुरोध करते हैं तो उनकी निजता की रक्षा हर हाल में की जाती है और उनके भरोसे को कायम रखा जाता है।

– न्याय 24 न्यूज़ की तरफ से किसी जिले में किसी भी व्यक्ति को नियुक्त नहीं किया गया है। कुछ एक जगहों पर अपवाद को छोड़कर, इसलिए अगर कोई खुद को न्याय 24 से जुड़ा हुआ बताता है तो उसके दावे को संदिग्ध मानें और पुष्टि के लिए न्याय 24 को मेल भेजकर पूछ लें।

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Top Headlines

Live Cricket