Follow us

अयोध्या से छुड़ाए बच्चों से मिली CWC की टीम, दर्द भरी दास्तां सुनकर भर आईं आंखें

अयोध्या

लखनऊ। बिहार से मदरसों के लिए ले जाए जा रहे 99 बच्चों का रेस्क्यू होने के बाद उनसे मिलने के लिए रविवार को अयोध्या बाल कल्याण समिति के चेयरमैन सर्वेश अवस्थी, बाल आयोग की सदस्य डॉ. शुचिता चतुर्वेदी व चाइल्ड लाइन की काउंसलर ऋचा मोहान रोड स्थित बालगृह पहुंची। वहां इन्होंने बच्चों का हाल जाना और उनकी आप बीती सुनी।
बच्चों से मिलने के बाद डॉ. शुचिता ने बताया कि उन सभी की फिर से काउंसिलिंग की गई। इस दौरान बच्चों से उनसे खुलकर बात की। शुचिता ने कहा कि एक दिन पहले जब वे लोग बच्चों से मिले थे तो वह एकदम खामोश थे। लेकिन आज उन्होंने उनसे खुलकर बात कि और अपनी आपबीती बताई।

उन्होंने कहा कि बच्चों ने उन्हें बताया कि दिन के खाने में उन्हें चावल और पानी जैसी दाल दी जाती थी। साथ में आधी-आधी रोटी। कई बार जब हम लोग रोटी चुरा लेते थे, तो हमें पाइप में कंचे भर कर मारा जाता था। एक बच्चे ने बताया कि अक्सर हमारे नाम पर चंदा इकट्ठा किया जाता था। मास्टर जबर और मास्टर शहजाद उन्हें मारते थे। उनसे बाथरूम साफ करवाया जाता और न करने पर उनके साथ मारपीट की जाती थी। बच्चों ने कहा, मास्टर शहजाद उन्हें सबसे ज्यादा मारते थे। छुट्टी होने पर घर नहीं भेजते थे। उन लोगों ने हमें बंधक बनाकर रखा था।

आज अभिभावकों को सौंपे जाएंगे बच्चे

बताया जा रहा है कि बाल कल्याण समिति की ओर से आज सोमवार से बच्चों को उनके अभिभावकों को सौंपने की प्रक्रिया शुरू की जा सकती है। इसके लिए अभिभावकों के पास जरूरी प्रमाण और शपथपत्र होना अनिवार्य है। रविवार से बच्चों के अभिभावक लखनऊ पहुंचने लगे हैं। हालांकि अब तक कोई एफआईआर दर्ज नहीं की जा सकी है। सीडब्लूसी के अध्यक्ष सर्वेश अवस्थी ने बताया कि अभिभावकों से अब तक उनकी मुलाकात भी नहीं हुई है। सभी कागजों के साथ उनसे पूछताछ की जाएगी और जब सीडब्ल्यूसी की टीम पूरी तरह से संतुष्ट हो जाएगी तो ही बच्चों को उन्हें सौपा जायेगा।

जलसे में दी जाती थी हाफिज बनने की ट्रेनिंग

आयोग की सदस्य के मुताबिक, एक बच्चे ने बताया कि यहां पर अक्सर अरशद मदनी का जलसा होता था, जिसमें हाफिज बनने की ट्रेनिंग दी जाती थी। हमें बताया गया कि 100 रुपये हर दिन मिलते हैं। साथ ही एक हाफिज अपने साथ 10 लोगों को जन्नत लेकर जाता है।

CWC की तरफ से FIR का इंतजार कर रही पुलिस

एसपी ग्रामीण अतुल सोनकर ने बताया कि मौलवियों से पूछताछ की जा रही है और पूरे मामले की तेजी से जांच भी हो रही है, लेकिन सीडब्लूसी की ओर अभी एफआईआर नहीं कराई गई है इसके लिए इंतजार किया जा रहा है। सीडब्लूसी जो भी कदम उठाएगा उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

इसे भी पढ़ें-दर्दनाक हादसा: ट्रेन से कटकर दो महिलाओं समेत दो बच्चों की मौत

इसे भी पढ़ें- दर्दनाक हादसा: ट्रेन से कटकर दो महिलाओं समेत दो बच्चों की मौत

nyaay24news
Author: nyaay24news

disclaimer

– न्याय 24 न्यूज़ तक अपनी बात, खबर, सूचनाएं, किसी खबर पर अपना पक्ष, लीगल नोटिस इस मेल के जरिए पहुंचाएं। nyaaynews24@gmail.com

– न्याय 24 न्यूज़ पिछले 2 साल से भरोसे का नाम है। अगर खबर भेजने वाले अपने नाम पहचान को गोपनीय रखने का अनुरोध करते हैं तो उनकी निजता की रक्षा हर हाल में की जाती है और उनके भरोसे को कायम रखा जाता है।

– न्याय 24 न्यूज़ की तरफ से किसी जिले में किसी भी व्यक्ति को नियुक्त नहीं किया गया है। कुछ एक जगहों पर अपवाद को छोड़कर, इसलिए अगर कोई खुद को न्याय 24 से जुड़ा हुआ बताता है तो उसके दावे को संदिग्ध मानें और पुष्टि के लिए न्याय 24 को मेल भेजकर पूछ लें।

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Top Headlines

Live Cricket