Follow us

एक ही सीट से लगातार तीन बार चुनाव लड़ने वाले मोदी तीसरे प्रधानमंत्री

मोदी
  • नेहरू ने फूलपुर व अटल ने लखनऊ से लगातार तीन बार चुनाव लड़ा                       और जीत हासिल  की 
  •  नौ साल 350 दिन का है पीएम मोदी का कार्यकाल

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को वाराणसी संसदीय सीट से तीसरी बार नामांकन कर स्वतंत्र भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की बराबरी पर पहुंच गये हैं। दोनों पूर्व प्रधानमंत्रियों ने अपने निर्वाचन क्षेत्रों (एक ही लोकसभा) से तीन बार चुनाव लड़ा और बड़ी जीत हासिल की थी। अब मोदी ने लगातार तीसरी बार एक ही लोकसभा सीट से नामाकंन किया है।

उल्लेखनीय है कि पंडित नेहरू 1951-52, 1957 और 1962 में प्रयागराज जिले के फूलपुर निर्वाचन क्षेत्र से संसद सदस्य थे और तीनों  बार उन्होंने प्रधानमंत्री का पद  की कमान संभाली। पंडित नेहरू को इस देश का प्रथम प्रधानमंत्री बनने का गौरव प्राप्त हुआ। लखनऊ से पांच बार सांसद रहे भारत रत्न पंडित अटल बिहारी वाजपेयी को 1996, 1998 और 1999 में सांसद बनने के बाद प्रधान मंत्री बनने का सम्मान मिला। इसके बाद नरेंद्र मोदी 2014 और 2019 में वाराणसी लोकसभा से चुने गए और प्रधानमन्त्री बनकर देश की बागडोर संभाली। उनके नेतृत्व में 2014 और 2019 में लड़े  गये चुनाव में पार्टी को प्रचंड बहुमत मिला और अब प्रधानमन्त्री ने तीसरी बार वाराणसी से अपना नामांकन दाखिल किया है।

14 में से 9 PM यूपी से

भारत के लोकतांत्रिक इतिहास में 14 प्रधान मंत्री हुए हैं, जिनमें से नौ उत्तर प्रदेश से थे। पंडित जवाहर लाल नेहरू से शुरू हुआ ये सिलसिला प्रधानमंत्री मोदी तक पहुंच गया है। इस दौरान लाल बहादुर शास्त्री, इंदिरा गांधी, चौधरी चरण सिंह, राजीव गांधी, विश्वनाथ प्रताप सिंह, चन्द्रशेखर और अटल बिहारी वाजपेयी यूपी की विभिन्न सीटों पर चुनाव जीतकर संसद पहुंचे और निर्वाचित प्रतिनिधियों ने उन्हें अपना नेता चुना और प्रधानमंत्री  बनने का गौरव प्रदान किया।

मोदी
मोदी

प्रधानमंत्री के रूप में नरेंद्र मोदी का दो बार का कार्यकाल 9 वर्ष और 350 दिन है। हालांकि प्रधानमंत्री के रूप में सबसे लंबे कार्यकाल का रिकॉर्ड देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के नाम है। नेहरू 16 साल 286 दिन तक देश के प्रधानमंत्री रहे। दूसरा नंबर उनकी बेटी इंदिरा गांधी का है।  इंदिरा गांधी ने प्रधानमंत्री के तौर पर 11 साल 59 दिन तक देश का प्रतिनिधत्व किया। मनमोहन सिंह ने 10 साल और 4 दिनों तक प्रधानमंत्री के रूप में कार्य किया, जिससे वह तीसरे सबसे लंबे समय तक सेवा करने वाले प्रधानमंत्री बन गए। अटल बिहारी वाजपेयी ने 6 साल 64 दिन तक देश की बागडोर संभाली है। वहीं  राजीव गांधी 5 साल 32 दिन तक देश के प्रधानमन्त्री रहे।

इसे भी पढ़ें-एक प्रधानमंत्री और दो राज्यपाल देने वाली श्रावस्ती को आज भी है विकास की दरकार

इसे भी पढ़ें-कंगना रनौत ने क्यों बताया सुभाष चंद्र बोस को देश के पहले प्रधानमंत्री…जाने क्या है पूरा मामला

nyaay24news
Author: nyaay24news

disclaimer

– न्याय 24 न्यूज़ तक अपनी बात, खबर, सूचनाएं, किसी खबर पर अपना पक्ष, लीगल नोटिस इस मेल के जरिए पहुंचाएं। nyaaynews24@gmail.com

– न्याय 24 न्यूज़ पिछले 2 साल से भरोसे का नाम है। अगर खबर भेजने वाले अपने नाम पहचान को गोपनीय रखने का अनुरोध करते हैं तो उनकी निजता की रक्षा हर हाल में की जाती है और उनके भरोसे को कायम रखा जाता है।

– न्याय 24 न्यूज़ की तरफ से किसी जिले में किसी भी व्यक्ति को नियुक्त नहीं किया गया है। कुछ एक जगहों पर अपवाद को छोड़कर, इसलिए अगर कोई खुद को न्याय 24 से जुड़ा हुआ बताता है तो उसके दावे को संदिग्ध मानें और पुष्टि के लिए न्याय 24 को मेल भेजकर पूछ लें।

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS