Follow us

राजधानी समेत प्रदेश के इन जिलों में अगले महीने से लगेंगे वाटर मीटर

Water Meter

लखनऊ। राजधानी समेत प्रदेश के 17 जिलों में अगले महीने से वाटर मीटर लगाने का काम शुरू हो जायेगा। इसके बाद चौबीसों घंटे पानी कि सुविधा मिलने लगेगी। भवन स्वामी से जल मीटर लगाने का कोई शुल्क नहीं लिया जाएगी। लखनऊ में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर 110 वार्डो में से चिनहट द्वितीय वार्ड में आने वाले गोमतीनगर के वास्तुखंड को चुना गया है। अगर ये योजना सफल हो जाती है तो भवन मालिक से पानी की लागत के आधार पर बिल लिया जाएगा। मीटर लगाने के लिए प्रारंभिक टेंडर हो चुका है। 28 मई को टेंडर खुलेगा और कंपनी का फैसला लिया जायेगा। पानी के मीटर लगाने का काम एक साल में पूरा कर लिया जाएगा।

राजधानी वास्तुखंड की तरह 17 अन्य जिलों में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर एक-एक कॉलोनी का चयन किया गया है। चिनहट द्वितीय वार्ड में गोमतीनगर के अधिकांश इलाके आते हैं।  इसमें वास्तुखंड भी शामिल है। परियोजना के पहले चरण में लगभग 1,000 घरों में वाटर मीटर लगेंगे।  यह शहर में अपनी तरह की पहली परियोजना है। वर्तमान समय में सुबह और शाम दो बार जलकल विभाग पानी की आपूर्ति करता है।

इन जिलों में शुरू होगी योजना

किस जिले का कौन सा इलाका योजना में शामिल है।  उन्नाव का पीडीनगर, सीतापुर का सिविल लाइंस, ललितपुर का तालाबपुरा, लखीमपुर का बरखेरवा, हरदोई का अशरफ टोला, झांसी का लहरग्रिड नगर, , रायबरेली का गौरा बाजार, जालौन का सुशीलनगर, कानपुर का गीता नगर, इटावा की फ्रेंड्स कॉलोनी, बांदा की स्वराज कॉलोनी, फर्रुखाबाद की आवास विकास कॉलोनी, पीलीभीत की सिविल लाइंस नार्थ कॉलोनी, बदायूं का नेकपुर, शाहजहांपुर का लोधीपुर और बरेली का इंदिरानगर वार्ड।

बिछाई जाएगी नई पाइपलाइन

जल निगम के परियोजना प्रबंधक महेश कुमार गौतम बताते हैं कि वास्तुखण्ड के एक हजार घरों तक नई पाइपलाइनें बिछाई जाएंगी। पानी जमा करने के लिए टंकियां और भूमिगत जलाशय पहले से मौजूद हैं। ऐसे में इन्हें बनाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

अनुमान है कि वास्तुखंड में प्रतिदिन लगभग 2.4 एमएलडी पानी की खपत होती है। ऐसे में तालाबों और भूमिगत जलाशयों में हमेशा पानी रहे इसके लिए योजना बनाई जा रही है। इसके लिए पानी की आपूर्ति करने वाली लाइन में बीच-बीच में डिजिटल सिस्टम वाले ऑटोमेटिक मीटर भी लगेंगे, जो एक पोर्टल से जुड़े रहेंगे, जिससे पता चलता रहेगा कितना पानी जमा है और कितना खर्च हुआ है।

महेश गौतम बताते हैं कि 17 जिलों में वाटर मीटर लगाने के लिए प्री-बिड मीटिंग आठ मई को संपन्न हो गई है। अब 28 को टेंडर खुलेंगे। इसमें तय हो जाएगा कि कौन सी कंपनी मीटर लगाएगी। जहां वाटर मीटर लगेंगे वहां 24 घंटे पानी की आपूर्ति रहेगी।

इसे भी पढ़ें-लखनऊ के कई स्कूलों को बम से उड़ाने की धमकी से हड़कंप

इसे भी पढ़ें-BJP के लिए इस बार आसान नहीं है लखनऊ लोकसभा सीट जीतना, इस वजह से आएगी मुश्किल

nyaay24news
Author: nyaay24news

disclaimer

– न्याय 24 न्यूज़ तक अपनी बात, खबर, सूचनाएं, किसी खबर पर अपना पक्ष, लीगल नोटिस इस मेल के जरिए पहुंचाएं। nyaaynews24@gmail.com

– न्याय 24 न्यूज़ पिछले 2 साल से भरोसे का नाम है। अगर खबर भेजने वाले अपने नाम पहचान को गोपनीय रखने का अनुरोध करते हैं तो उनकी निजता की रक्षा हर हाल में की जाती है और उनके भरोसे को कायम रखा जाता है।

– न्याय 24 न्यूज़ की तरफ से किसी जिले में किसी भी व्यक्ति को नियुक्त नहीं किया गया है। कुछ एक जगहों पर अपवाद को छोड़कर, इसलिए अगर कोई खुद को न्याय 24 से जुड़ा हुआ बताता है तो उसके दावे को संदिग्ध मानें और पुष्टि के लिए न्याय 24 को मेल भेजकर पूछ लें।

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Top Headlines

Live Cricket