Follow us

स्वाति मालीवाल के बयान के बाद पुलिस ने दर्ज किया FIR

ई दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सदस्य स्वाति मालीवाल के साथ कथित रूप से हुई मारपीट के मामले में दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को केस दर्ज कर लिया है। पुलिस ने केजरीवाल के निजी सहायक विभव कुमार को आरोपित बनाया है, इससे पहले स्वाति मालीवाल ने घटना के तीन दिन बाद पुलिस के समक्ष अपना बयान दर्ज करवाया। पुलिस की टीम साढे चार बजे तक स्वामी के आवास के घर पर मौजूद रही पुलिस सूत्रों का कहना है कि मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग ने दिल्ली पुलिस को नोटिस भेज कर तीन दिन में की गई कार्रवाई की रिपोर्ट तलब की थी। इस रिपोर्ट को तैयार करने के सिलसिले में पुलिस की टीम सांसद के घर पहुंची थी. बयान में स्वाति ने क्या जानकारियां दी है इसका खुलासा नहीं हो पाया है।

वही स्वाति ने सोशल साइट X पर लिखा मेरे साथ जो हुआ वह बहुत बुरा था। मैंने पुलिस को अपना स्टेटमेंट दिया है आशा है कि उचित कार्रवाई होगी देश में अहम चुनाव चल रहा है। स्वाति जरूरी नहीं है, देश के मुद्दे जरूरी है इस घटना पर राजनीति न करें।

क्या है पूरा मामला

13 मई को आप की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल सीएम अरविंद केजरीवाल से मिलने उनके घर पहुंची थी। आरोप है सीएम आवास पर केजरीवाल के निजी सचिव विभव कुमार ने उनसे मारपीट और बदसलूकी की थी। जिसके बाद स्वाति ने सीएम आवास से ही पीसीआर को कॉल कर दिया। बाद में वह पुलिस थाने भी पहुंची थी वहां उन्होंने अपने साथ हुई घटना की बात तो कहीं पर बिना कोई लिखित शिकायत दिए लौट आई थी।

 

AAP Approaches Swati Maliwal For Settlement Amid 'Assaultgate': Sources |  Times Now

मेरे साथ जो हुआ वह बहुत बुरा था घटना पर मैंने स्टेटमेंट पुलिस को अपना स्टेटमेंट दे दिया आशा है कि उचित कार्रवाई होगी- स्वाति मालीवाल

nyaay24news
Author: nyaay24news

disclaimer

– न्याय 24 न्यूज़ तक अपनी बात, खबर, सूचनाएं, किसी खबर पर अपना पक्ष, लीगल नोटिस इस मेल के जरिए पहुंचाएं। nyaaynews24@gmail.com

– न्याय 24 न्यूज़ पिछले 2 साल से भरोसे का नाम है। अगर खबर भेजने वाले अपने नाम पहचान को गोपनीय रखने का अनुरोध करते हैं तो उनकी निजता की रक्षा हर हाल में की जाती है और उनके भरोसे को कायम रखा जाता है।

– न्याय 24 न्यूज़ की तरफ से किसी जिले में किसी भी व्यक्ति को नियुक्त नहीं किया गया है। कुछ एक जगहों पर अपवाद को छोड़कर, इसलिए अगर कोई खुद को न्याय 24 से जुड़ा हुआ बताता है तो उसके दावे को संदिग्ध मानें और पुष्टि के लिए न्याय 24 को मेल भेजकर पूछ लें।

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Top Headlines

Live Cricket