Follow us

डॉक्टर सर्दी-खांसी में चावल खाने को करते हैं मना, यहां जानें क्यों

cold cough

दक्षिण एशियाई लोग चावल खाना बहुत पसंद करते हैं। हालांकि, सर्दी-खांसी में चावल खाना वर्जित है क्योंकि अक्सर कहा जाता है कि सर्दी-खांसी में चावल खाने से बुखार हो जाता है इसलिए इसे खाया नहीं जा सकता। सर्दी और खांसी के साथ वायरल बुखार होने का खतरा काफी बढ़ जाता है। इसलिए सर्दियों में आपको अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

सर्दी-खांसी होने पर चावल खाना चाहिए या नहीं?

सर्दी या खांसी से पीड़ित किसी भी व्यक्ति को भूलकर भी चावल नहीं खाना चाहिए क्योंकि इससे बुखार हो सकता है। सर्दी-खांसी के दौरान चावल खाने से बलगम जमा हो जाता है। ऐसे में चावल खाने से समस्या और बढ़ सकती है। यही कारण है कि खांसी या सर्दी होने पर आपको गलती से भी चावल नहीं खाना चाहिए।

रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है

अगर आप सर्दी-खांसी के कारण एक ही समय पर खाना खाते हैं तो शरीर में धीरे-धीरे बलगम बनने लगता है। ए बहुत अधिक मात्रा में बलगम फेफड़ों को कमजोर कर देता है और इम्युनिटी भी कमजोर हो जाती है इसलिए विशेषज्ञ सर्दी या खांसी होने पर चावल खाने से बचने की सलाह देते हैं।

सर्दी-खांसी में चावल खाने के नुकसान

सर्दी या खांसी होने पर चावल खाने से आपकी खांसी और भी बदतर हो सकती है। इससे आपके शरीर को काफी नुकसान हो सकता है। चावल में बलगम बनाने वाले गुण होते हैं इसलिए खाना वर्जित है। जब आप सर्दी और खांसी में चावल खाते हैं, तो आपके शरीर का तापमान गिरने लगता है यानि शरीर ठंडा पड़ने लगता। दरअसल, चावल की तासीर ठंडी होती है। यही वजह है कि इसके सेवन के बाद समस्या और बढ़ सकती है। अक्सर कहा जाता है कि अगर आपको सर्दी या खांसी है तो आपको गर्म खाना या पेय पदार्थ खाना चाहिए। ठंडे या बासी चावल खाने से शरीर को ठंडक मिलती है। अगर आप खांसी-जुकाम से छुटकारा पाना चाहते हैं तो कुछ दिनों तक चावल खाने से बचें।

इसे भी पढ़ें-अगर आप भी घंटों एक ही जगह बैठकर करते हैं काम तो हो जाएं सतर्क, बढ़ सकती हैं समस्याएं

इसे भी पढ़ेंअगर दिखने लगे ये लक्षण तो संभल जाइए, हो सकते हैं लिवर कैंसर के संकेत

nyaay24news
Author: nyaay24news

disclaimer

– न्याय 24 न्यूज़ तक अपनी बात, खबर, सूचनाएं, किसी खबर पर अपना पक्ष, लीगल नोटिस इस मेल के जरिए पहुंचाएं। nyaaynews24@gmail.com

– न्याय 24 न्यूज़ पिछले 2 साल से भरोसे का नाम है। अगर खबर भेजने वाले अपने नाम पहचान को गोपनीय रखने का अनुरोध करते हैं तो उनकी निजता की रक्षा हर हाल में की जाती है और उनके भरोसे को कायम रखा जाता है।

– न्याय 24 न्यूज़ की तरफ से किसी जिले में किसी भी व्यक्ति को नियुक्त नहीं किया गया है। कुछ एक जगहों पर अपवाद को छोड़कर, इसलिए अगर कोई खुद को न्याय 24 से जुड़ा हुआ बताता है तो उसके दावे को संदिग्ध मानें और पुष्टि के लिए न्याय 24 को मेल भेजकर पूछ लें।

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Top Headlines

‘मोदी जी को कौन रोक रहा वायनाड से लड़ लें, ‘ प्रियंका के नामांकन होते ही कांग्रेस प्रधानमंत्री को चुनौती देगी!

राहुल गांधी ने वायनाड लोकसभा सीट से इस्तीफा दे दिया है वही राहुल गाँधी अब रायबरेली का प्रतिनिधित्व करेंगे कांग्रेस

Live Cricket