Follow us

आगरा में जूता कारोबारियों के ठिकानों पर इनकम टैक्स की रेड, करोड़ों का कैश बरामद

Income tax raid

आगरा। आगरा में जूता कारोबारियों के ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी 80 घंटे बाद खत्म हो गई। इस दौरान टीम को 57 करोड़ का कैश, गोल्ड ज्वैलरी, प्रापर्टी के कागजात और करोड़ों की पर्चियां मिलीं। इनकम टैक्स की जांच में पता चला कि इन पर्चियों के जरिए ही कैश में भुगतान किया जाता है। इसके अलावा टीम को पैसे के हेर फेर के भी साक्ष्य मिले हैं।

दरअसल, शनिवार को आयकर विभाग की टीम ने आगरा में रिटेल स्टोर्स के 14 ठिकानों पर एक साथ रेड डाली। आगरा में प्रमुख दुकानों बीके शूज, मंशू फुटवियर और हरमिलाप ट्रेडर्स के यहां छापेमारी की। इस रेड में इतना कैश बरामद हुआ की नोट गिनते-गिनते मशीनें भी थक गईं। बताया जा रहा है कि इस छापेमारी में इनकम टैक्स की टीम को हरमिलाप ट्रेडर्स के मालिक रामनाथ ढंक यहां से क़रीब 53 से 54 करोड रुपये का कैश बरामद हुआ जबकि बीके शूज और मंशु फुटवियर के यहां से 55 से 60 करोड रुपये का कैश मिला है। इनमें ज़्यादातर गड्डियां 500-500 के नोटों की थीं। इतनी बड़ी मात्रा में कैश देख कर रेड डालने गई इनकम टैक्स की टीम भी हैरान रह गई। टीम ने बरामद कैश को दो वैन में भरकर बैंक पहुंचाया।

आगरा में आयकर विभाग की ये अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई है। रेड के दौरान टीम को यहां से अरबों रुपये के वाउचर भी मिले जिनका इस्तेमाल नकद लेनदेन में किये जाने की आशंका जताई गई है। सूत्रों की मानें तो आयकर विभाग को जो पर्चियां मिली हैं वह शहर के खुदरा जूता विक्रेताओं की होंगी। इसके अलावा गोल्ड और रियल स्टेट में इन्वेस्टमेंट के भी साक्ष्य मिले हैं। इनकम टैक्स की इस कार्रवाई के बाद जूता कारोबारी की मुश्किलें बढ़ने की संभावना जताई जा रही है।

पैसों के लेन-देन में इस्तेमाल होने वाली पर्चियों में कई बड़े लोगों के नाम आने की आशंका जताई जा रही है। बताया जा रहा है कि जूता कारोबार का पूरा खेल पर्चियां के जरिए होता था और ज्यादातर भुगतान कैश में पर्चियां के जरिए किया जाता था। इस मामले के सामने आने के बाद अब इसकी गहनता से जांच की जाएगी। माना जा रहा है कि इसमें कई दूसरे नाम भी सामने आ सकते हैं।

आपको बता दें कि आयकर विभाग की टीम ने शनिवार सुबह 11 बजे आगरा के एमडी रोड स्थित बीके शूज और हर्मिलाप ट्रेडर्स समेत 14 ठिकानों पर छापेमारी की। इस दौरान टीम ने सभी जगह से इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद, लैपटॉप और सेल फोन जब्त कर लिया है, जिनका डेटा भी ट्रांसफर कर लिया गया है। रेड डालने वाली टीम में सौ से अधिक आयकर विभाग के अधिकारी शामिल रहे।

इसे भी पढ़ें-शेखर हॉस्पिटल के मालिक डॉ. एके सचान के खिलाफ ED को मिले पुख्ता सबूत, CBI जांच की सिफारिश

इसे भी पढ़ें-फर्जीवाड़ा: टैक्स इंस्पेक्टर बताकर शादी की, जाति भी निकली झूठी, फिर दहेज में मांगे पांच लाख रुपए, घर से भी निकाला

nyaay24news
Author: nyaay24news

disclaimer

– न्याय 24 न्यूज़ तक अपनी बात, खबर, सूचनाएं, किसी खबर पर अपना पक्ष, लीगल नोटिस इस मेल के जरिए पहुंचाएं। nyaaynews24@gmail.com

– न्याय 24 न्यूज़ पिछले 2 साल से भरोसे का नाम है। अगर खबर भेजने वाले अपने नाम पहचान को गोपनीय रखने का अनुरोध करते हैं तो उनकी निजता की रक्षा हर हाल में की जाती है और उनके भरोसे को कायम रखा जाता है।

– न्याय 24 न्यूज़ की तरफ से किसी जिले में किसी भी व्यक्ति को नियुक्त नहीं किया गया है। कुछ एक जगहों पर अपवाद को छोड़कर, इसलिए अगर कोई खुद को न्याय 24 से जुड़ा हुआ बताता है तो उसके दावे को संदिग्ध मानें और पुष्टि के लिए न्याय 24 को मेल भेजकर पूछ लें।

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Top Headlines

‘मोदी जी को कौन रोक रहा वायनाड से लड़ लें, ‘ प्रियंका के नामांकन होते ही कांग्रेस प्रधानमंत्री को चुनौती देगी!

राहुल गांधी ने वायनाड लोकसभा सीट से इस्तीफा दे दिया है वही राहुल गाँधी अब रायबरेली का प्रतिनिधित्व करेंगे कांग्रेस

Live Cricket