Follow us

धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं देता संविधान, हम खत्म करेंगे मुस्लिम रिजर्वेशन: शाह

Amit Shah

सिद्धार्थनगर। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि भाजपा धर्म के आधार पर मुसलमानों का आरक्षण खत्म कर देगी। हमारा संविधान धर्म के आधार पर आरक्षण का समर्थन नहीं करता। उन्होंने कांग्रेस और समाजवादी पार्टी की आलोचना करते हुए कहा कि वे कहते हैं कि उन्होंने देश के गरीब लोगों के लिए बहुत काम किया है। सेना की वैन रैंक, वन पेंशन की मांग थी, जिसे न तो इंदिरा गांधी ने पूरा किया और न ही राजीव गांधी व सोनिया गांधी ने। अब जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सत्ता में आये तो उन्होंने इसे पूरा किया।

उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थ नगर  में जनता को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपराधियों को उल्टा लटकाकर उन्हें सीधा कर दिया है। पहले यहां कट्टे बनते थे, आज ब्रह्मोस मिसाइल बन रही है। एक समय ऐसा भी आएगा जब यहां का बना तोप का गोला पाकिस्तान को समाप्त कर देगा। उन्होंने कांग्रेस सांसद राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा, राहुल कहते थे धारा 370 हटाई गई तो खून की नदियां बह जाएंगी। राहुल जी, ये आपकी दादी का ज़माना नहीं है। अपने देखा 370 तो हटा लेकिन एक ककड़ तक किसी ने नहीं उठाया।

अमित शाह ने कहा कि ऑल इंडिया का लक्ष्य एससी-एसटी और ओबीसी का आरक्षण खत्म करना है। कल ही बंगाल हाई कोर्ट ने एक फैसला सुनाया है। बंगाल सरकार ने 180 मुस्लिम जातियों को ओबीसी सूची में शामिल कर दिया था और मुसलमानों को पिछड़े वर्गों में शामिल होने का अधिकार दिया था। हमारे संविधान में धर्म के आधार पर आरक्षण देने का कोई नियम नहीं है। शाह ने कहा, यही वजह है कि बुधवार को 2010 से 2024 के बीच बंगाल सरकार ने जितनी भी मुस्लिम जातियों को ओबीसी आरक्षण दिया था, उसे हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया है। हम धर्म के आधार पर मुस्लिम आरक्षण समाप्त कर देंगे।

इसे भी पढ़ें-कांग्रेस ने दी संविधान बचाने की दलील, तो BJP ने दिया राममदिर बचाने का हवाला

इसे भी पढ़ें-संविधान बदलने वालों को हराना जरूरी है: अखिलेश यादव

nyaay24news
Author: nyaay24news

disclaimer

– न्याय 24 न्यूज़ तक अपनी बात, खबर, सूचनाएं, किसी खबर पर अपना पक्ष, लीगल नोटिस इस मेल के जरिए पहुंचाएं। nyaaynews24@gmail.com

– न्याय 24 न्यूज़ पिछले 2 साल से भरोसे का नाम है। अगर खबर भेजने वाले अपने नाम पहचान को गोपनीय रखने का अनुरोध करते हैं तो उनकी निजता की रक्षा हर हाल में की जाती है और उनके भरोसे को कायम रखा जाता है।

– न्याय 24 न्यूज़ की तरफ से किसी जिले में किसी भी व्यक्ति को नियुक्त नहीं किया गया है। कुछ एक जगहों पर अपवाद को छोड़कर, इसलिए अगर कोई खुद को न्याय 24 से जुड़ा हुआ बताता है तो उसके दावे को संदिग्ध मानें और पुष्टि के लिए न्याय 24 को मेल भेजकर पूछ लें।

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS